सामान्य प्रश्न

1) क्या कैंसर जानलेवा बीमारी हैं ?

    चिकित्सा विज्ञान के अनुसार कैंसर कतई जानलेवा बीमारी नहीं है। रोगी चिकित्सक के पास प्रारंभिक अवस्था में आ जाए तो रोग से उनको पूर्णतया निजात मिल सकती है।कैंसर के इलाज की तकनीक में नए एवम् अभूतपूर्व खोजो की वजह से कैंसर रोगियों के ठीक होने का प्रतिशत बढ़ता जा रहा है।प्रतेक रोगी के शरीर की प्रकृति अलग अलग होती है , इसलिए यह कतई जरूरी नहीं है कि जो अनुभव एक रोगी को इलाज के दौरान हुए हो वहीं सबमें हो।

2) क्या कैंसर बढ़ती उम्र का रोग है?

    ऐसा जरूरी नहीं है क्यूंकि कैंसर किसी भी उम्र में हो सकता है। परन्तु बढ़ती उम्र के साथ शरीर की प्रतिरोधी क्षमता कम होने के कारण कैंसर होने की संभावना ज्यादा होती है।

3) क्या कैंसर एक संक्रामक रोग है?

    नहीं,कैंसर संक्रामक रोग नहीं है, अतः कैंसर के रोगी के प्रति सदैव सहयोात्मक रवैया अपनाए।

4) क्या कैंसर वंशानुगत होता है ?

    जन सामान्य का मानना है कि परिवार के किसी एक सदस्य को कैंसर होने का मतलब है कि घर के अन्य सदस्यों का भी कैंसर ग्रस्त होना । जबकि यह सत्य से परे है।हा, ऐसा जरूर है कि अन्य लोगों की तुलना में कैंसर होने कि संभावना अधिक रहेगी।ऐसे में परिवार को अधिक जागरूक रहना चाहिए और नियमित जांचो के बारे में कैंसर डॉक्टरो से परामर्श लेना चाहिए।

5) क्या कैंसर किसी खास वजह से होता है ?

    कैंसर सिर्फ एक बीमारी न होकर बीमारियों का समूह है।कई सौ प्रकार दर्ज है जिनकी वजह अलग अलग है या फिर ज्ञात नहीं है।मुख कैंसर के करको की लम्बी सूची है अतएव यह कहना कि कैंसर किसी खास वजह से होता है उचित नहीं होगा।

6) क्या कैंसर होने पर हमेशा दर्द होता है ?

    जनमानस का यह मानना है कि कैंसर में दर्द होता ही है।जबकि चिकित्सको का मत है कि शुरुआत में दर्द नहीं होता है।दर्द रोगियों में बढ़ती हुई अवस्था में इलाज के आभाव में होता है। कैंसर के दर्द को दूर करने में कई दवाएं कारगर है ।

7) क्या मीठी सुपारी/मीठा पान खाने से भी कैंसर हो सकता है ?

    जी हां,सुपारी का किसी भी रूप में सेवन हानिकारक ही होता है । इसमें एरोकलाइन नामक कैंसर जनक तत्व होता है जो सुपारी के विभिन्न रूप जैसे पान, गुटखा, मीठी सुपारी आदि में होता है अतएव सुपारी को किसी भी रूप में ना लें।

8) कैंसर के रोकथाम के लिए क्या किया जाना चाहिए?

    कैंसर की रोकथाम के लिए व्यक्तिगत,सरकारी, गैर सरकारी संस्थाओं के सहेयोग की आवश्यकता है। हर स्तर पर प्रयास कर जागरूकता फैलानी होगी ।

9) कैंसर का पता लगाने हेतु कौन सी जांचे करनी पड़ती हैं ?

    कैंसर रोग को देखने एवम् अवस्था के आधार पर आवशकता अनुसार बायोप्सी, एक्सरे, सीटी स्कैन आदि जांचो की सलाह दी जाती हैं।

रजिस्ट्रेशन